कांग्रेस विधायक के बेटे ने ख़ुद को गोली मार किया सुसाइड, मम्मी-पापा के लिए छोड़ा सुसाइड नोट

जबलपुर: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) में बरगी विधायक संजय यादव के 17 साल के बेटे विभव ने गुरुवार को ख़ुद को गोली मार ली। उसे गंभीर हालत में भंडारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। आत्महत्या की वजह अभी पता नहीं चल पाई है। शव को पास से सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें पापा और मम्मी को अच्छा बताते हुए सुसाइड के लिए किसी को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया है। घटना के वक़्त घर में वह अकेला था। नीचे वाले रुम में परिवार का नौकर था।

मेरे मम्मी-पापा बहुत अच्छे हैं

ये हादसा विधायक के हाथी ताल वाले घर पर हुआ। विधायक संजय यादव के दो बेटे हैं। जिस वक़्त यह घटना हुई, मां सीमा किसी काम से भोपाल गई थीं, पिता बैठक में शामिल होने गए थे। बड़ा बेटा समर्थ यादव पेट्रोल पंप पर था। घर पर सिर्फ़ नौकर हरी नाथ ही था। दोपहर डेढ़ बजे के क़रीब घर की पहली मंज़िल पर से पिस्टल चलने की आवाज़ आई। नौकर तुरंत पहुंचा, तो विभव ख़ून से लथपथ पड़ा था। पास ही लाइसेंसी रिवॉल्वर पड़ी थी। हरी नाथ ने संजय यादव को सूचना दी। इसके बाद उसे तुरंत भंडारी अस्पताल ले जाया गया। घटना के बाद घर के पास तनाव का माहौल है। यहां भीड़ इकट्ठी हो गई।

सुसाइड नोट मिला

घटनास्थल से पुलिस को 4 पेज का सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है कि मां और पापा बहुत अच्छे हैं। मेरे सारे दोस्त बहुत अच्छे हैं। मेरा दोस्त ऊपर चला गया है। मैं भी उसके पास जा रहा हूं। ये सुसाइड नोट उसने 5 दोस्तों को मैसेज किया था। उनसे कहा कि तुम लोग बहुत अच्छे हो अब मैं जा रहा हूं। कहा जा रहा है कि उसका कोई दोस्त नहीं रहा। इस कारण से उसने सुसाइड किया। विभव सत्य प्रकाश मदन महल स्कूल में 12वीं का छात्र था।

कांग्रेस नेता पहुंचे

संजय यादव 2018 के विधानसभा चुनाव में पहली बार भाजपा नेता प्रतिभा सिंह को हराकर विधायक बने हैं। घटना के बाद कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, बीजेपी विधायक सुशील तिवारी, कांग्रेस विधायक तरुण भनोट और विधायक संजय यादव के घर पहुंचे। घटना के बाद घर के पास तनाव का माहौल है। यहां भीड़ इकट्ठी हो गई।

Leave a Comment