टिकट बँटवारे में महिलाओं को लेकर कांग्रेस ने तैयार किया मास्टर प्लान

The News Air- (चंडीगढ़) उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए तारीख़ों का ऐलान हो चुका है और अब बारी टिकट बांटने की है। कांग्रेस ने टिकट बँटवारे के लिए मास्टर प्लान तैयार किया है। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के नारे ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ को टिकट बँटवारे में सबसे ज़्यादा तवज्जो दी जाएगी।
सूत्रों की मानें तो योगी शासन के दौरान बेइज्जती, रेप और प्रताड़ना की शिकार हुई महिलाओं की लिस्ट तैयार की जा रही है। इन महिलाओं और उनके क़रीबी रिश्तेदारों को टिकट देने पर विचार किया जा रहा है। इनमें उन्नाव और हाथरस रेप विक्टिम भी शामिल हैं।

प्रियंका पहले ही कर चुकीं इशारा, लड़ने वाली को देंगी मौक़ा

प्रियंका ने एक बड़े टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में भी इस ओर इशारा किया था कि लड़ने वाली लड़की को पार्टी टिकट देगी। उन्होंने कहा था, ‘हमारी लिस्ट में ऐसी महिलाएं हैं, जो खड़ा होना चाहती हैं अपने लिए। जो लड़ना चाहती हैं। जिन पर अत्याचार हुआ है। हम कह रहे हैं अगर आपके साथ किसी विधायक ने अत्याचार किया है तो हम आपको टिकट देंगे।
आप चुनाव लड़ो। विधायक बनो। सत्ता अपने हाथ में लो और लड़ो।’ इस बयान के दौरान प्रियंका का इशारा उन्नाव की गैंगरेप पीड़ित की ओर था, जिसने भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर पर गैंगरेप और अपहरण का आरोप लगाया था।

लिस्ट में 4 चेहरों को सबसे ज़्यादा तरजीह

सूत्रों की मानें तो पार्टी ने चर्चित मामलों की केस स्टडी तैयार की है। इसके बाद पीड़ित परिवारों से मिलकर उन्हें चुनाव लड़ने के लिए राज़ी करने की कोशिश की जा रही है। इसके बाद टिकट देने का फ़ैसला किया जाएगा। 4 चेहरों को मुख्य रूप से शामिल किया गया है।

उन्नाव गैंगरेप पीड़ित: जिन लड़ने वालियों की लिस्ट कांग्रेस ने तैयार की है। उनमें उन्नाव रेप केस की विक्टिम की मां आशा सिंह भी शामिल हैं। सूत्रों की मानें तो उन्हें चुनाव लड़ने के लिए राज़ी कर लिया गया है। 2017 में उन्नाव की बांगरमऊ सीट से भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर पर एक नाबालिग लड़की ने अपहरण और बलात्कार का केस दर्ज़ करवाया था। पीड़ित ने कहा था कि वह विधायक के घर नौकरी मांगने गई थी, तब उसके साथ गैंगरेप हुआ था।
परिवार ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज़ कराई थी, तब लड़की मिली थी। इस मामले में सेंगर को उम्रकैद की सज़ा सुनाई गई। इसके बाद सेंगर पर पीड़ित लड़की और उसके रिश्तेदारों की कार का एक्सीडेंट कराने का आरोप भी लगा। इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई थी। पीड़ित की भी बाद में मौत हो गई। इसके बाद काफ़ी हंगामे और योगी सरकार की आलोचना के बाद सेंगर की विधायकी ख़त्म कर दी गई थी।

हाथरस गैंगरेप विक्टिम: कांग्रेस इस दलित लड़की के परिवार से भी एक महिला को टिकट देने की तैयारी कर रही है। टिकट परिवार की किस महिला को मिलेगा, इसका निर्णय लिया जाना है। संभव है मां या भाभी में से किसी को दिया जाए। हाथरस में 14 सितंबर 2020 को एक दलित लड़की के साथ गैंग रेप का मामला सामने आया था। इसमें आरोपी ऊंची जाति के ठाकुर समुदाय से थे। इस मामले ने तब तूल पकड़ा, जब दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में 29 सितंबर को लड़की की मौत हो गई। पुलिस ने परिवार को बताए बिना अफरा-तफरी में लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया था।

इस पर विपक्ष ने आरोप लगाया कि ठाकुर जाति का होने की वजह से योगी आदित्यनाथ की सरकार के शासन काल में इस मामले को दबाने की कोशिश की जा रही है। इस मामले में 11 अक्टूबर, 2020 को सीबीआई ने एफआईआर दर्ज़ की और 18 दिसंबर 2020 को चार्जशीट दर्ज़ की गई थी।

शाहजहांपुर आशा वर्कर: ज़िले में आशा वर्कर का काम करने वाली पूनम पांडे उस वक़्त चर्चा में आ गईं, जब वे अपने ज़िले में होने वाली मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सभा में मानदेय की मांग को लेकर साथियों के साथ जाने की कोशिश कर रही थीं। यहां उन्हें पुलिस ने रोकने की कोशिश की। पूनम योगी जी से मिलकर अपनी फ़रियाद सुनाने पर आमादा थीं। इस पर पुलिस ने बुरी तरह उनकी पिटाई कर दी। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। प्रियंका वाड्रा गांधी ने फ़ौरन इस वीडियो को ट्वीट कर आशा वर्कर्स को न्याय दिलाने की मांग की। यह मामला पिछले साल नवंबर का है।

पूर्व सपा नेता ऋतु सिंह: लखीमपुर खीरी के पसगवां ब्लॉक में ब्लॉक प्रमुख पद के नामांकन के दौरान सपा प्रत्याशी ऋतु सिंह की साड़ी खींची गई थी। ऋतु कांग्रेस में शामिल हो गई हैं और पार्टी अब इन्हें विधायकी का टिकट देने की तैयारी कर चुकी है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस मामले में सीएम योगी ने ब्लॉक के थाना के सीओ, एसओ समेत 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया था।
इस मामले में जिस आरोपी युवक को पुलिस ने गिरफ़्तार किया था, उसके भाजपा के साथ कनेक्शन की बात सामने आते ही हंगामा खड़ा हो गया था। युवक भाजपा की सांसद रेखा वर्मा का रिश्तेदार है। रेखा वर्मा यूपी की धौरहारा सीट से बीजेपी सांसद हैं।

Leave a Comment