नवजोत सिद्धू को 10 मिनट का ऑडियो मैसेज भेज कांग्रेस महासचिव हैप्पी बाजवा ने की आत्महत्या

चंडीगढ़, 29 जुलाई (The News Air)

विधान सभा हलका दाखा के अधीन पड़ते गांव जांगपुर निवासी और कांग्रेस पार्टी के विभिन्न पदों पर काम कर चुके सरगरम वर्कर दलजीत सिंह हैप्पी बाजवा (49) पुत्र स्व. कुलवंत सिंह ने नज़दीकी गांव हिस्सोवाल जा कर कोई ज़हरीला पदार्थ खा कर ख़ुदकुशी कर ली है।

ख़ुदकुशी करने से पहले हैप्पी ने एक 10 मिनट का ऑडियो मैसेज भी सोशल मीडिया पर वायरल किया है, जिसमें वह पंजाब कांग्रेस समिति के नए बने अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को मुखातिब हो कर कह रहा कि कांग्रेसी वर्करों की कोई सुनवाई नहीं हो रही। सिद्धू साहब! मेरे परिवार को संभाल लेना, अगर अगला जन्म मिला तो कांग्रेसी बनूंगा। वह तीस साल से कांग्रेस पार्टी से जुड़ा है, अभी तक अपने परिवार को दाल आटा योजना का लाभ तक नहीं दिला सका। कांग्रेस के लिए काम करते उस पर कई मामले दर्ज हुए, चार साल के शासन में उसे कोई फायदा नहीं हुआ है। इस ऑडियो मैसेज में उसने गांव के ही तीन व्यक्तियों के नाम लेकर उनको आरोपी ठहराया है।

हैप्पी ने इस ऑडियो मैसेज के द्वारा पंजाब अध्यक्ष नवजोत सिद्धू को अपना पूरा दुख बयान करते अपने भाई के बच्चों पर अपना हाथ रखने के लिए भी निवेदन किया, जिनके लिए वह हमेशा दिन रात एक करता था। ऑडियो मैसेज में हैप्पी ने अपनी ज़िंदगी के तीस साल कांग्रेस पार्टी में गुज़ारने और खाड़कूवाद के समय निडर हो कर की सख़्त मेहनत का भी ज़िक्र किया है और ख़ुदकुशी करने से पहले यह भी कहा कि ऐसे काम ज़मीर मार कर होते हैं। इस लिए यह बड़ा क़दम उठाने जा रहा हूं। दाखा पुलिस विभागीय कार्रवाई कर रही है।

उधर पंजाब कांग्रेस के वर्कर दलजीत सिंह बाजवा (हैप्पी) की आत्म-हत्या की ख़बर मिलते ही पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू तुरंत हैप्पी के घर पहुंचे। इस दौरान नवजोत सिद्धू ने पुलिस को फटकार लगाते हैपी बाजवा द्वारा ऑडियो मैसेज में बताए गए आरोपियों की तुरंत गिरफ़्तारी की मांग की। नवजोत सिंह सिद्धू ने मौक़े पर ही मृतक के परिवार को 10 लाख रुपए की सहायता पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति की तरफ़ से देने का ऐलान किया है।

Leave a Comment