कांग्रेस और अकाली दल ने करोड़ों रुपए फंड लेकर पंजाब की बिजली बेची- भगवंत मान


चंडीगढ़, 12 जुलाई (The News Air)

पंजाब में बिजली प्लांट लगाने वाली प्राईवेट बिजली कंपनियों से कांग्रेस (इंडियन नेशनल) पार्टी ने करोड़ों रुपए फंड के तौर पर लिए हैं और शिरोमणि अकाली दल बादल पर प्लांटों में हिस्सेदारी डाली गई है, इसी लिए पंजाब वासियों को देशभर से सबसे महंगी बिजली खरीदनी पड़ रही है। यह खुलासा करते आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कहा कि कांग्रेस और अकाली दल ने करोड़ों रुपए फंड लेकर पंजाब की बिजली भी बेच दी है।

सोमवार को पार्टी दफ्तर से  प्रेस कान्फ्रेंस दौरान प्रदेश अध्यक्ष भगवंत मान ने बताया कि पंजाब में तीन प्राईवेट बिजली कंपनियों ने बिजली प्लांट स्थापित किए हैं और कांग्रेस पार्टी ने इन सभी कंपनियों से 15.35 करोड़ रुपए फंड लिए हैं। इस सम्बन्धित विवरण देते भगवंत मान ने बताया कि कांग्रेस पार्टी ने तलवंडी साबो में बिजली प्लांट लगाने वाली एल एंड टी कंपनी से पहले 1करोड़, फिर 2 करोड़ 25 लाख और तीसरी बार 5 करोड़ फंड के तौर पर लिए हैं। इसी तरह राजपुरा में बिजली प्लांट लगाने वाली कंपनी से पहले 5 करोड़ और फिर 2 करोड़ रुपए फंड लिए हैं, जबकि जी.बी.के. कंपनी से 10 लाख रुपए फंड के तौर पर हासिल किए हैं।

भगवंत मान ने बताया कि यही कारण है कि पंजाब की कांग्रेस सरकार प्राईवेट बिजली समझौते रद्द नहीं करती, क्योंकि बिजली कंपनियों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह की कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान के घर तक पैसों की वर्षा की हुई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह पर टिप्पणी करते भगवंत मान ने कहा ‘कांग्रेस सरकार के हाथ बांधे हुए नहीं, बल्कि रिश्वत के साथ रंगे हुए हैं।’

बिजली समझौतों के बारे में अकाली दल बादल पर टिप्पणी करते भगवंत मान ने कहा कि अकाली दल बादल के प्रधान सुखबीर बादल ने बिजली कंपनियों से पैसे नहीं लिए, बल्कि बिजली प्लांटों में हिस्सा डाला हुआ है, जिस के बारे में पूरा पंजाब अच्छी तरह से जानता है। उन्होंने कहा कि सुखबीर बादल को कांग्रेस पार्टी की ओर से लिए रिश्वत के बारे में पता है, इसी लिए वह कैप्टन अमरिंदर सिंह को बिजली समझौते रद्द करने की चुनौती दे रहा है। भगवंत मान ने पूर्व मंत्री और कांग्रेसी नेता नवजोत सिद्धू को ताना मारते कहा ‘सिद्धू साब कांग्रेस पार्टी की ओर से बिजली कंपनियों से लिए करोड़ों रुपए के बारे में भी एक ट्वीट ठोकें।’

सांसद भगवंत मान ने स्पष्ट करते कहा कि उनकी पार्टी ने अदालत में बिजली प्लांटों के अपग्रेड (नवीनीकरण) की मांग की है, जो कि केंद्र सरकार ने प्राईवेट बिजली प्लांटों के बारे में बनाई योजना में गाइड लाइनों के तौर पर लिखी हुई है, परन्तु सुखबीर बादल ने प्राईवेट बिजली कंपनियों के साथ किए समझौतों में इन गाइड लाइनों को शामिल ही नहीं किया।

मान ने कहा बिजली प्लांटों का नवीनीकरण करना ज़रूरी है, जिससे प्लांटों के साथ फेल रहे हवा और पानी के प्रदूषण को रोका जाए, क्योंकि इस प्रदूषण के साथ लोगों को कैंसर, दमा समेत अन्य बहुत सी बीमारियां लग जाती हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी देश समेत पंजाब के लोगों को साफ सुथरा वातावरण और पानी देने के साथ साथ भ्रष्टाचार मुक्त साशन देने के लिए यत्न शील है।


Leave a Comment