चंडीगढ़ प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जारी किए सख्त आदेश

चंडीगढ़, 10 मई

कोरोना वायरस लगातार लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है| परिस्थितियां गंभीर और बेहद नाजुक बनी हुई हैं| ये दौर वो है जब मानो ऐसा लग रहा है जैसे हर ओर मौत नाच रही है| वो बिलखती चीखें, वो लोगों की मायूसी दिल को अंदर तक झकझोर जाती है| पर ऐसे वक्त में भी कुछ वो लोग भी हैं जिन्हें इस सबसे तनिक भी फर्क नहीं पड़ता| ये स्थिति को फायदा उठाने में जुटे पड़े हैं| जैसा कि आप देख रहे हैं कि किस तरह से हर रोज ऑक्सीजन और जरुरी दवाइयों की जमाखोरी कर कालाबाजारी करने वाले पकड़े जा रहे हैं| वहीं, बीमार लोगों या किसी डेड बॉडी को लाने-ले जाने में भी कालाबाजारी का खेल खूब चल रहा है|

इधर, इस बारे में बात अगर चंडीगढ़ की करें तो यहां इस चीज को लेकर चंडीगढ़ प्रशासन बेहद सख्त नजर आ रहा है| चंडीगढ़ प्रशासन ने सख्त आदेश जारी किया है कि जमाखोरों/कालाबाजारी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए| इसके लिए फ़ूड एन्ड सप्लाई इंस्पेक्टरों की जिम्मेदारी तय की हैं| जो यह देखेंगे कि कौन जमाखोरी और कालाबाजारी कर रहा है| इसके अलावा प्रशासन ने लोगों की सहूलियत के लिए इस बाबत जानकारी देने के लिए एक नंबर भी जारी किया है| ऐसा होने पर कोई भी 1800-180-2079 पर शिकायत कर सकता है।

दरअसल, देखा जा रहा है कि लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर तय दाम से ज्यादा में कोई सामान दिया जा रहा है| लोग इससे काफी परेशान हैं| फिलहाल, अब चंडीगढ़ में जब प्रशासन ने ऐसा कदम उठाया है तो अब लोगों को कुछ राहत जरूर मिलने की उम्मीद है|

चंडीगढ़ प्रशासन ने हाल ही में वेस्टर्न कमांड चंडी मंदिर आर्मी से पंजाब यूनिवर्सिटी के इंटरनेशल हॉस्टल में 100 बेड्स का एक कोरोना हॉस्पिटल शुरू करने की बात कही थी| जिस पर वेस्टर्न कमांड चंडी मंदिर आर्मी ने सहमति जता दी| अब पंजाब यूनिवर्सिटी के इंटरनेशल हॉस्टल में 100 बेड्स का एक कोरोना हॉस्पिटल शुरू हो गया है| सोमवार को इसका उद्घाटन किया गया| इस दौरान पंजाब के गवर्नर और यूटी के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर के साथ प्रशासन के कई आलाधिकारी और चंडी-मंदिर आर्मी कमांड के कई वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी रही| बतादें कि,

Leave a Comment