केंद्र सरकार ने देशभर के किसान को दी ख़ुशख़बरी, मोदी सरकार ने की खरीफ फ़सलों के लिए एमएसपी की घोषणा

नई दिल्ली, 9 जून
The Minimum Support Price: केंद्र सरकार ने फ़सल वर्ष 2021-22 के लिए धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) 72 रुपए से बढ़ाकर 1,940 रुपए प्रति क्विंटल करने की घोषणा कर दी है।
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एम.एस.पी. में की गई बढ़ोतरी को हरी झंडी दे दी है। पिछले वर्ष यह 1,868 रुपए प्रति क्विंटल था। कृषि मंत्री ने मंत्रिमंडल के निर्णय की जानकारी देते हुए बताया कि कृषि फ़सलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जा रहे हैं और भविष्य में भी इसी तरह की वृद्धि होती रहेगी।

Capture


तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विगत 7 वर्षों में लगातार कृषि के क्षेत्र में एक के बाद एक अनेक ऐसे निर्णय लिए, जिससे किसान की आमदनी बढ़े, किसान महंगी फ़सलों की ओर आकर्षित हो, किसान के घर में ख़ुशहाली आए और खेती फ़ायदे का सौदा बने। मोदी सरकार का MSP को उत्पादन लागत के 1.5 गुना (अथवा उत्पादन लागत पर कम से कम 50 प्रतिशत मुनाफ़ा) के स्तर पर निर्धारित करने की दिशा में एक क्रान्तिकारी फ़ैसला है। इसी प्रकार पिछले वर्ष के 372.23 लाख मीट्रिक टन ख़रीद की तुलना में अब तक लगभग 416.95 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूँ की ख़रीद हुई है, जिससे लगभग 45.67 लाख किसान लाभांवित हुए हैं।

E3bpupdVcAMWHQz

तोमर ने कहा कि चालू खरीफ विपणन मौसम  2020-21 (6 जून 2021 तक) हेतु, पिछले साल के 736.36 लाख मीट्रिक टन की तुलना में, एमएसपी पर 813.11 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की ख़रीद की गई, जिससे कि जारी खीरफ विपणन वर्ष के लिए 120 लाख से अधिक किसानों को लाभ हुआ है। रबी विपणन मौसम 2020-21 (6 जून 2021 तक) में गेहूँ की ख़रीद के लिए किसानों को सीधे DBT के माध्यम से 82,347.39 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए हैं।

Leave a Comment