कैप्टन ने डी.जी.पी. को दी हिदायत, धरने देने वाले आप व अकाली नेताओं के विरुद्ध दर्ज किया जाए मामला

चंडीगढ़, 7 जूनः
Capt. Amarinder Singh: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सोमवार को डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डी.जी.पी.) को हिदायत की कि पिछले कुछ दिनों से राज्य में धरना दे रहे विरोधी पक्ष के नेताओं और वर्करों के खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट के अधीन केस दर्ज किये जाएँ।
शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी (आप) की ऐसी गतिविधियों को गैर जिम्मेदाराना और महामारी के फैलाव के मद्देनजर सख्त पाबंदियों की घोर उल्लंघना करार देते हुये मुख्यमंत्री ने डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता को कहा कि इस कानून के अंतर्गत ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्यवाही की जाये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब ऐसे समय जब लोग विवाहों और संस्कारों तक में भी इकठ्ठा नहीं हो सकते तो इन पार्टियों के नेताओं और वर्करों का मनमाना व्यवहार दर्शाता है कि उनको पंजाबियों की सेहत पर सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि इस तरह के व्यवहार को कदाचित बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।
आप के कल के धरने को राज्य में लागू वीकैंड कर्फ्यू का उल्लंघन करार देते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि ऐसे धरने और राजनैतिक जलसे महामारी के बड़े स्तर पर फैलाव का कारण बन सकते हैं और इनसे कठोरता से निपटना पड़ेगा। उन्होंने डी.जी.पी. को कहा कि कानून को अपना काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजनैतिक नेताओं की समाज के प्रति बडी जिम्मेदारी बनती है, जिसको इन पार्टियों ने छोड़ दिया है, इससे पंजाब के लोगों का जीवन खतरे में पड़ा है।
मुख्यमंत्री ने दोहराया कि यह समय राजनैतिक खेल खेलने और ओछे राजनैतिक हथकंडे अपनाने का नहीं, बल्कि इस महामारी के खात्मे के लिए इकठ्ठा मिलकर लड़ने का है।
जिक्रयोग्य है कि मुख्यमंत्री की तरफ से महामारी की दूसरी लहर को रोकने के लिए पाबंदियाँ लगाने से पहले ही उन्होंने ऐलान कर दिया था कि पंजाब में सत्ताधारी कांग्रेस कोई राजनैतिक सभा नहीं करेगी।

Leave a Comment