कैप्टन अमिरंदर बोले…बार-बार जल्लालत सहने से अच्छा था इस्तीफा देना, इस लिए दे दिया इस्तीफा

चंडीगढ़, 18 सितंबर (The News Air)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने शनिवार को विधायक दल की बैठक से पहले अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंपा। इस्तीफे के बाद कैप्टन ने कहा कि मुझ पर सरकार नहीं चलाने के संदेह से मुझे लगा कि मेरा अपमान हुआ। उन्होंने कहा कि अभी मैं कांग्रेस में ही हूं। उन्होंने कहा कि भविष्य की राजनीति के विकल्प खुले हैं। वक्त आने पर इस पर फैसला लूंगा। 

सीएम के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने कहा, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें और उनके मंत्रिपरिषद का इस्तीफा सौंप दिया है.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, मेरा फैसला आज सुबह हो गया था. मैंने सुबह ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को कह दिया था कि मैं अपने पद से आज इस्तीफा दे रहा हूं. ये तीसरी बार हो रहा है पिछले 2 महीनों में. मैं समझता हूं कि मेरे ऊपर पार्टी आलाकमान को शक है कि मैंने सत्ता नहीं चला पाया. मैं समझता हूं कि मेरा पद से इस्तीफा देना ही सही है. पार्टी अध्यक्ष को जो सही लगेगा वो उन्हें मुख्यमंत्री बनाएंगी.

इससे पहले कांग्रेस ऑब्जर्वर्स हरीश चौधरी और अजय माकन के यहां पहुंचने से पहले पंजाब कांग्रेस में काफी हलचल देखने को मिली। कांग्रेस हाईकमान की ओर से शनिवार शाम को बुलाई गई विधायक दल की बैठक के बाद ही कैप्टन के इस्तीफे की चर्चाएं हो रही थीं। कांग्रेस पर्यवेक्षकों के चंडीगढ. पहुंचे से पहले ही पंजाब में सियासी हलचल तेज हो गई थी। इससे पहले, अमरेंद्र सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात की और बार-बार हो रहे ‘अपमान’ को लेकर नाराजगी एवं नाखुशी जताई।

Leave a Comment