विरोधियों पर हमलावर हुए कैप्टन अमरिंदर, सिद्धू भगवान से बात करने का…

The News Air- पंजाब के पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विरोधियों पर बड़े हमले बोले हैं। कैप्टन ने सीएम चरणजीत चन्नी के अवैध रेत खनन में शामिल होने का दावा किया है। नवजोत सिद्धू को एक बार फिर अनस्टेबल क़रार देते हुए कैप्टन ने कहा कि वह दिन में दो बार भगवान से बात करने का दावा करते हैं। वहीं भगवंत मान के बारे में कैप्टन ने कहा कि पाक बॉर्डर से सटे पंजाब को संभालना किसी कॉमेडियन के बस की बात नहीं है।

रेत माफ़िया पर कार्रवाई न करना मेरी ग़लती

कैप्टन ने कहा कि चरणजीत चन्नी झूठ बोल रहे हैं। जब वह CM थे तो मुझे इनपुट मिले थे कि चन्नी और कांग्रेस के कई दूसरे नेता टॉप टू बॉटम तक अवैध रेत माफ़िया में शामिल हैं।। मैंने सोनिया गांधी को बताया था लेकिन पार्टी के प्रति वफादारी की वजह से कोई कार्रवाई नहीं की। अपने पूरे कार्यकाल में मेरी यह सबसे बड़ी ग़लती रही।

MeToo पर चन्नी ने अफ़सर से माफ़ी माँगी

कैप्टन ने कहा कि चरणजीत चन्नी के #MeToo मामले में मैंने उन्हें कहा था कि लेडी अफ़सर से माफ़ी मांगें। मैंने कहा था कि अगर वह माफ़ी स्वीकार नहीं करती तो मैं एक्शन लूंगा। अफ़सर ने उनकी माफ़ी स्वीकार कर ली, इसलिए मामला वहीं ख़त्म हो गया।

पता नहीं, राहुल गांधी को सिद्धू में क्या दिखता है

कैप्टन ने कहा कि मुझे नहीं पता कि राहुल गांधी सिद्धू में क्या देखते हैं। दिन में दो बार भगवान से बात करने का दावा करने वाले नवजोत सिद्धू जैसे आदमी को मेंटली अनस्टेबल नहीं तो और क्या कहा जा सकता है। सिद्धू पंजाब के लिए अनफिट हैं। पाकिस्तानी नेताओं को गले लगाने से यह बदल नहीं सकता।

पंजाब को भगवंत मान जैसे कॉमेडियन की ज़रूरत नहीं

कैप्टन ने कहा कि भगवंत मान सिर्फ़ एक कॉमेडियन हैं। पंजाब का 600 किमी बॉर्डर पाकिस्तान से सटा हुआ है, ऐसे में पंजाब को कॉमेडियन की ज़रूरत नहीं है। आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल के दिल्ली मॉडल और करोड़ों की सब्सिडी के वादे से लोगों को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता।

बेअदबी, ड्रग्स और माफ़िया के लिए बादल ज़िम्मेदार

बादल और अकाली दल पंजाब के लिए ठीक नहीं है। वह 2015 में हुई बेअदबी के केसों, ड्रग्स और माफ़िया के ज़िम्मेदार हैं। बतौर मुख्यमंत्री बेअदबी के केसों को मैं कोर्ट तब ले गया जबकि उन्हें सीबीआई से वापस लेने में कई मुश्किलें आईं।

117 सीटों पर प्रचार करूंगा, पटियाला से लड़ूंगा

कैप्टन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि चुनाव आयोग जल्द कुछ राहत देगा, जिसके बाद वह पंजाब में 117 सीटों पर प्रचार करने के लिए जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वह पटियाला से ही चुनाव लड़ेंगे। वह अपने 300 साल पुराने परिवार को नहीं छोड़ सकते। मैं अपनी और केंद्र सरकार की उपलब्धियों को लेकर वोट मागेंगे। कैप्टन ने चुनाव के बाद कांग्रेस या आम आदमी पार्टी से किसी तरह के गठजोड़ से इन्कार किया। उन्होंने कहा कि वह भाजपा और शिअद संयुक्त के साथ मिलकर चुनाव जीतेंगे।

Leave a Comment