बिटकॉइन निवेशकों की चांदी, पहुंचा 39 लाख रुपये के पार!

Bitcoin इस हफ्ते लगातार मजबूत बना हुआ है। एक बार फिर से इस डिजिटल कॉइन ने 3.8 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की है। मंगलवार को विश्व की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी ने 50 हजार डॉलर के आंकड़े को पार कर लिया। वर्तमान में यह 39 लाख 58 हजार रुपये (लगभग 53,040 डॉलर) पर ट्रेड कर रही है। 50 हजार डॉलर का आंकड़ा बिटकॉइन के लिए एक साइकोलॉजिकल बैरियर बना हुआ था जिसको यह पार कर चुका है। उम्मीद बनी हुई है कि सप्ताह के बाकी बचे दिनों में भी यह अपनी बढ़त का सिलसिला जारी रखेगा। 

Gadgets360 के cryptocurrency price tracker में ज्यादातर क्रिप्टोकरेंसी में ग्रीन कलर ही दिखाई दिया। जिसमें ईथर भी शामिल रहा। इसने मंगलवार को 0.84 प्रतिशत की मामूली बढ़त दर्ज की जिसके बाद यह बुधवार को 3.25 प्रतिशत की बढ़त ले गया। वर्तमान में ईथर की कीमत 2 लाख 69 हजार रुपये (लगभग 3,609 डॉलर) पर बनी हुई है। चीन ने क्रिप्टो पर पूरी तरह से बैन लगा दिया। पिछले दस दिनों से इस कॉइन में लगातार उतार चढ़ाव देखा जा रहा था। मगर इस हफ्ते की शुरुआत अच्छी रही और आगे भी बढ़ोत्तरी के संकेत मिल रहे हैं।

Dogecoin के लिए भी यह सप्ताह बड़ा उछाल लेकर आया। मंगलवार को इसकी कीमत में बड़ी बढ़त देखी गई। यह सिलसिला बुधवार को भी जारी रहा जब डॉजकॉइन की कीमत 6.25 प्रतिशत बढ़ी। वर्तमान में यह 19.88 रुपये (लगभग 0.28 डॉलर) पर ट्रेड कर रही है। इसका एक कारण एलन मस्क के ट्वीट को भी माना जा सकता है जिसमें उन्होंने सोमवार को शिबा इनू की एक पिक्चर पोस्ट की थी।
इसी के साथ Tether, Ripple, Cardano और Litecoin ने भी मामूली बढ़त दर्ज की। महीने की शुरुआत क्रिप्टोकरेंसी मार्केट के लिए काफी अच्छी रही है और ज्यादातर DeFi टोकनों के लिए आगे भी अच्छे ट्रेड की उम्मीद की जा रही है।

मई महीने में भले ही क्रिप्टोकरेंसी एक नाजुक दौर से गुजरी मगर निवेशकों का विश्वास अभी भी इसमें बना हुआ है। क्योंकि कुछ देश जहां इस पर बैन लगा रहे हैं वहीं कुछ दुनिया के कुछ हिस्सों में इसे तेजी से अपनाया जा रहा है। एशिया के कुछ देश दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ते क्रिप्टो बाजारों के रूप में उभरे हैं। जिसमें टॉप तीन देश शामिल हैं, क्रमशः वियतनाम, भारत और पाकिस्तान। इन देशों में पिछले एक वर्ष में तेजी से क्रिप्टो विस्तार हुआ है। मार्केट रिसर्च फर्म Chainalysis की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, CSAO देशों में जमीनी स्तर पर क्रिप्टोकरेंसी को अपनाया जा रहा है।

Leave a Comment