पंजाब में AAP मंत्रिमंडल से बड़े चेहरे बाहर: चुनाव से पहले पार्टी छोड़ने की थी चर्चा

The News Air- चंडीगढ़- पंजाब में आम आदमी पार्टी (AAP) के पहले मंत्रिमंडल से बड़े चेहरे बाहर हो गए। मंत्री पद के सबसे बड़े दावेदार अमन अरोड़ा, सर्वजीत कौर माणुके और प्रो. बलजिंदर कौर का नाम पहली सूची में नहीं आया। अब चर्चा शुरू हो गई है कि आखिर इन्हें मंत्री क्यों नहीं बनाया गया?। इसको लेकर अब आप की अंदरुनी कलह की बातें बाहर आने लगी हैं।

सूत्रों के मुताबिक इन तीनों को मंत्री पद न मिलने के पीछे हाल ही में सपन्न हुआ चुनाव है। जब आप ने टिकट वितरण में देरी की तो कुछ मौजूदा विधायक पार्टी छोड़ने की तैयारी में थे। इनमें अमन अरोड़ा, सर्वजीत कौर माणुके और बलजिंदर कौर का भी नाम चर्चा में रहा। हालांकि तीनों ने इसे सिरे से नकार दिया था कि वह आप छोड़कर किसी दूसरी पार्टी में जा रहे हैं। वहीं आप ने पार्टी स्तर पर भी कभी ऐसी बात नहीं कही।

मंत्री न बनाए जाने पर अमन अरोड़ा ने कहा कि मेरी कोई कमी रह गई होगी, जो मेरा नाम रह गया। मैं उसे दूर करूंगा। मैं पार्टी का छोटा वर्कर हूं और पार्टी जहां भी ड्यूटी लगाएगी। वह काम करूंगा।

प्रो. बलजिंदर कौर ने कहा कि हाईकमान का जो भी फैसला है, वह हमें मंजूर है। पार्टी कई उतार-चढ़ाव से निकली है। जब बड़े दिग्गज पार्टी छोड़कर चले गए थे, तब से लेकर आज तक पार्टी की हर बात मानी है। मुझे कोई परेशानी नहीं है।

AAP ने पहली लिस्ट में 10 MLA को टिकट दी थी

AAP ने पहली लिस्ट में 10 MLA को टिकट दी थी

टिकट कटने की चिंता में थे विधायक, दबाव में जारी करनी पड़ी थी लिस्ट

2017 के चुनाव में AAP के 20 उम्मीदवार चुनाव जीते। इनमें से 2022 के चुनाव आने तक 10 पार्टी छोड़ गए। कुछ ने राजनीति से किनारा कर लिया लेकिन रूपिंदर रूबी, नाजर मानशाहिया, पिरमल सिंह, जगतार सिंह जैसे विधायक कांग्रेस में चले गए। उस वक्त यह चर्चा रही कि आप कई मौजूदा विधायकों का टिकट काट सकती है। जिसकी पीछे सर्वे का हवाला दिया जा रहा था। हालांकि 10 विधायकों के छोड़कर जाने के बाद आप के दिल्ली नेतृत्व पर दबाव बढ़ने लगा। जिसके बाद पहली लिस्ट में अचानक अरोड़ा, माणुके और बलजिंदर समेत 10 विधायकों का नाम अनाउंस कर दिया गया।

सबसे बड़ी जीत रही अमन अरोड़ा की

अमन अरोड़ा ने पंजाब चुनाव में 117 सीटों पर 75,277 के अंतर से सबसे बड़ी जीत हासिल की थी। उन्होंने सुनाम से कांग्रेस के जसविंदर धीमान को हराया। उनको लेकर चर्चा थी कि मंत्री बनाने के साथ उन्हें अहम वित्त मंत्रालय दिया जा सकता है लेकिन पहली सूची से ही वह गायब हो गए।

7 नए मंत्री बनने बाकी

पंजाब में मुख्यमंत्री समेत 18 मंत्री बन सकते हैं। इनमें CM भगवंत मान और 10 मंत्री बन चुके हैं। अभी भी 7 मंत्री और बनने बाकी हैं। ऐसे में इसको लेकर सुगबुगाहट जरूर है कि शुरूआती झटका देकर आप इन्हें मंत्री बना सकती है।

Leave a Comment