भगवंत मान ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए सर्वदलीय बैठक और विधान सभा का विशेष सत्र बलाने की मांग की


चंडीगढ़, 20 मई

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पंजाब के लोग डर के साए में समय व्यतीत कर रहे हैं, परन्तु कोरोना के संकट में कैप्टन और बाकी कांग्रेसी लोगों की बाजू पकडऩे की बजाए एक दूसरे की बाजू मरोडऩे में व्यस्त हैं। जबकि दिल्ली में आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने लोगों की जिन्दगियां बचाने के लिए हर संभव यत्न किए हैं और कोरोना पीडित परिवारों के अच्छे जीवन बसर के लिए नगद राशी और पैंशन देने के ऐलान किये हैं।

वीरवार को पार्टी के मुख्य दफ्तर पर पत्रकारों को संबोधन करते भगवंत मान ने बताया कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में रहने वाले कोरोना महामारी के कारण बेसहारा होने वाले बच्चों को 2500 रुपए 25 साल की उम्र होने तक देने का फैसला किया है, जब कि पारिवारिक मैंबर की कोरोना के साथ मौत होने पर 2500 रुपए पैंशन देने का निर्णय किया है। उन्होंने कहा कि परिवार में कमाने वाले की कोरोना के साथ मौत हो जाने पर 50 हजार रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया जब कि दिल्ली में रहने वाले बिना राशन कार्ड वाले गरीब परिवारों समेत 72 लाख लोगों को मुफ्त राशन देने के भी आदेश जारी किये गए हैं। उन्होंने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को दिल्ली की केजरीवाल सरकार से सबक लेने की अपील करते कहा कि मुसीबत में लोगों की बाजू पकडऩा सरकार की जिम्मेदारी होती है।

भगवंत मान ने कहा कि दूसरी तरफ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह कोरोना महामारी से निपटने के लिए और महामारी के साथ पीडित परिवारों की वित्तीय मदद करने में बुरी तरह फेल हुए हैं। उन्होंने दोष लगाया कि कैप्टन सरकार कोरोना योद्धाओं के लिए 50 लाख का बजट ऐलान करके भी पलट गई है।

मान ने दोष लगाया कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने पंजाब के लोगों को लावारिस छोड़ दिया है और इसी लिए कुछ प्राईवेट अस्पतालों की ओर से कोरोना के इलाज के नाम पर लोगों की अंधी लूट की जा रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब में सरकार नाम की कोई चीज नहीं, क्योंकि कैप्टन अमरिन्दर सिंह पहाड़ों में अपने बागों में मस्त हैं।

संसद मैंबर ने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह पंजाब पर तानाशाही तरीके से राज कर रहे हैं, जैसे पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह की रियासत हो। उन्होंने मांग की है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह को कोरोना महामारी के साथ निपटने के लिए सर्वदलीय मीटिंग और विधान सभा का विशेष सत्र बुलाना चाहिए।

मान ने कहा कि जनता की अदालत में अकाली और कांग्रेसी निश्चित तौर पर दोषी साबित होंगे, क्योंकि बादलों की तरह ही कांग्रेस सरकार ने पंजाब में माफिया राज कायम किया है। कैप्टन सरकार ने बेअदबी के दोषियों को सजाएं नहीं दीं, इसी लिए अब कांग्रेसी मंत्री और नेता गांवों में जाने से डरने लगे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह से अपील की है कि कांग्रेस सरकार के रहते समय में पंजाब और पंजाब के लोगों को बचाने के लिए काम करें। इसी समय विधायक और किसान विंग के प्रधान कुलतार सिंह संधवां, विधायक मनजीत सिंह बिलासपुर, विधायक अमरजीत सिंह सन्दोआ, पार्टी के महा सचिव हरचन्द सिंह बरसट और खजांची मैडम नीना मित्तल उपस्थित थे।


Leave a comment

Subscribe To Our Newsletter

Subscribe To Our Newsletter

Join our mailing list to receive the latest news and updates from our team.

You have Successfully Subscribed!