चन्नी दोनों सीटों से हार रहे हैं – अरविंद केजरीवाल

The News Air- (अमृतसर) आम आदमी पार्टी(आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चमकौर साहिब और भदौड़ दोनों सीटों से हार रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि हमने तीन बार सर्वे कराए हैं। तीनों सर्वे में आम आदमी पार्टी दोनों जगहों पर काफी आगे रही। सर्वे के अनुसार, चमकौर साहिब में चन्नी को 35 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया और आम आदमी पार्टी को 52 प्रतिशत लोगों ने चुना। वहीं चन्नी की दूसरी सीट भदौड़ में आप उम्मीदवार को 48 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया जबकि चन्नी को मात्र 30 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया है।

रविवार को अमृतसर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी सिर्फ कांग्रेस का मुख्यमंत्री चेहरा बन कर ही रह जाएंगे क्योंकि जब वह विधायक ही नहीं बनेंगे तो मुख्यमंत्री कैसे बनेंगे। केजरीवाल ने कहा कि ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि पंजाब कांग्रेस के नेता कुर्सी के लिए लगातार आपस में लड़ रहे हैं और एक दूसरे पर कीचड़ उछाल रहे हैं। जबकि हम अपने नेताओं,कार्यकर्ताओँ और पंजाब के लोगों के साथ मिलकर पंजाब के विकास के लिए अगले पांच साल की योजनाएं बना रहे हैं। कांग्रेस पार्टी सर्कस बन गई है। पंजाब के लोग सर्कस चलाने वाले को वोट नहीं करने वाले हैं।

आप पंजाब के मुख्यमंत्री उम्मीदवार भगवंत मान ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि जो पार्टी के नेता साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ सकते, वे पंजाब को अच्छा भविष्य क्या देंगे। मान ने कांग्रेस नेताओं की आपसी लड़ाई का उदाहरण देते हुए कहा कि राजा वडि़ंग ने मनप्रीत बादल पर आरोप लगाए हैं कि वह उन्हें हराने की कोशिश कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी परणीत कौर अपने पति कैप्टन के लिए कांग्रेस उम्मीदवार के खिलाफ प्रचार कर रही है, जबकि वह अभी कांग्रेस से सांसद हैं। इसी तरह मुख्यमंत्री चन्नी के भाई कांग्रेस उम्मीदवार के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं और उन्हें अंदरखाते चन्नी का पूरा समर्थन है। कांग्रेस सरकार के मंत्री राणा गुरजीत सिंह का बेटा सुल्तानपुर लोधी विधानसभा क्षेत्र से आजाद चुनाव लड़ रहा है और उसके लिए राणा गुरजीत कांग्रेस उम्मीदवार के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं।

मान ने कहा कि दरअसल कांग्रेस नेताओं को जनता से कोई लेना-देना नहीं है। उनका उद्देश्य सिर्फ अपने और अपने परिवार को किसी भी तरह सत्ता में बनाए रखना है। कुर्सी के लिए दिन-रात आपस में लडऩे वाली कांग्रेस पार्टी पंजाब को स्थिर सरकार नहीं दे सकती। सत्ता में आने के बाद भी वे इसी तरह कुर्सी के लिए लड़ते रहेंगे। कांग्रेस को वोट देना, मतलब पंजाब के भविष्य को खतरे में डालना है। मान ने कहा कि पंजाब को इस समय एक स्थिर और मजबूत सरकार की जरूरत है। आम आदमी पार्टी की पूरी टीम एक होकर चुनावी मैदान में है। पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से लेकर प्रदेश के सभी नेता मिलकर पंजाब के बेहतर भविष्य के लिए मेहनत कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी पंजाब को स्थिर, मजबूत और ईमानदार सरकार देगी एवं राज्य को फिर से पहले की तरह खुशहाल बनाएगी।

Leave a Comment