Air Strikes: अमेरिका ने ISIS के अफ़ग़ानिस्तान स्थित अड्डे पर बरसाए बम; क़ाबुल ब्लास्ट का मास्टरमाइंड ढेर

क़ाबुल, 28 अगस्त (The News Air)
अफ़ग़ानिस्तान के क़ाबुल स्थित हामिद करज़ई इंटरनेशन एयरपोर्ट पर गुरुवार शाम हुए आत्मघाती हमले का अमेरिका ने बदला ले लिया है। अमेरिका ने अफ़ग़ानिस्तान के नांगरहार प्रांत में ISIS के ठिकाने पर एयर स्ट्राइक की है। (air strike) अमेरिकी सेना ने ड्रोन के ज़रिये ISIS के ठिकानों पर भारी बमबारी की। इसमें ISIS खुरासान ग्रुप के कई आतंकियों के मारे जाने की ख़बर है। इनमें क़ाबुल एयरपोर्ट पर हुए धमाके का मास्टरमाइंड भी शामिल है। अमेरिकी रक्षा विभाग के प्रवक्ता कैप्टन बिल अरबन ने ये जानकारी मीडिया से शेयर की है। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की राष्ट्रीय सुरक्षा टीम(NSA) ने फिर से आतंकी हमले की चेतावनी दी थी। मान जा रहा है कि इसके बाद अमेरिका ने यह जवाबी कार्रवाई की है।

1 16

अमेरिका ने दिए थे हमले के संकेत-क़ाबुल एयरपोर्ट पर फिदायीन हमले के बाद अमेरिका ने ISIS-K के ख़िलाफ़ युद्ध छेड़ने के संकेत दिए थे। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सदमे और नाराज़गी भरे लहज़े में देश को संबोधित करते हुए दो टूक कहा था कि इस हमले को वे न भूलेंगे और न भूलने देंगे। आतंकवादी संगठन को इसकी क़ीमत चुकानी होगी। अब अमेरिका शिकार करेगा। हालांकि बाइडेन ने इस आशंका को खारिज कर दिया कि इस हमले में तालिबान और ISIS की मिलीभगत है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान से अफ़ग़ान सहयोगियों को बाहर निकाले का मिशन जारी रहेगा।

airstrike

170 लोगों की मौत हो चुकी है– बता दें कि क़ाबुल एयरपोर्ट पर हुए धमाके में अब तक 170 लोगों की मौत हो चुकी है। 1277 से ज़्यादा लोग घायल हैं, जिनमें कई गंभीर हैं। ऐसे में मरने वालों का आंकड़ा और बढ़ सकता है। इस धमाके में 28 तालिबानी समेत 155 अफ़गानी मारे गए हैं। मरने वालों में 13 अमेरिकी और 2 ब्रिटिश नागरिक भी शामिल हैं। हालांकि ब्लास्ट के 16 घंटे बाद एयरपोर्ट से उड़ानें शुरू करनी पड़ीं, ताकि लोगों को निकाला जा सके।

Leave a Comment