AIG आशीष कपूर हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत, जमानत याचिका पर..

चंडीगढ़ (The News Air) पंजाब विजिलेंस ब्यूरो द्वारा करप्शन मामले में गिरफ्तार किए AIG आशीष कपूर को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से राहत नहीं मिल सकी है। आरोपी आशीष कपूर ने मामले में नियमित जमानत के लिए हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थ, लेकिन हाईकोर्ट ने मामले में 22 फरवरी के लिए सुनवाई स्थगित कर दी है।

AIG आशीष कपूर के पक्ष से सीनियर एडवोकेट बिपिन घई कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने बताया कि सुनवाई 22 फरवरी तक स्थगित कर दी गई है, क्योंकि आज सुनवाई नहीं हो सकी। गौरतलब है कि पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने AIG आशीष कपूर के खिलाफ 6 अक्टूबर 2022 को केस दर्ज किया था।

ASI हरजिंदर सिंह पर भी नामजद

गौरतलब है कि आशीष कपूर पर साल 2018 में जालसाजी और धोखाधड़ी कर दो महिलाओं को राहत देने के बदले उनके एक करोड़ रुपए के चेक से बैंक खाते से रकम निकालने के आरोप हैं। इस केस में AIG आशीष कपूर के अलावा DSP पवन कुमार और ASI हरजिंदर सिंह पर भी नामजद हैं।

इमिग्रेशन फ्रॉड में जेल में बंद थी महिला

दरअसल, AIG आशीष कपूर पर एक महिला से रेप और जबरन उगाही के भी आरोप हैं। रेप के आरोप लगाने वाली महिला ने दावा किया था कि वह इमिग्रेशन फ्रॉड से जुड़े एक केस में जेल में बंद थी। आशीष कपूर उस समय अमृतसर सेंट्रल जेल के सुपरिटेंडेंट थे। उन्होंने जेल में अपने पद का फायदा उठाते हुए उससे जबरन फिजिकल रिलेशन बनाए।

पंजाब गवर्नर बीएल पुरोहित की फाइल फोटो।

आशीष कपूर ने कराई महिला की जमानत

आरोप हैं कि रेप के बाद आशीष कपूर ने माता रानी की फोटो के सामने महिला से शादी भी की। लेकिन जब महिला प्रेगनेंट हो गई तो आशीष कपूर ने उसकी जमानत करवा दी, ताकि किसी को सच न पता लगे। महिला के आरोपों के अनुसार आशीष कपूर ने ही मई 2018 में उसे जीरकपुर थाने में झूठे इमिग्रेशन केस में फंसाया।

कपूर ने जेल में उपलब्ध कराई सुविधाएं

महिला ने दावा किया था कि जब वह जेल में बंद थी तो आशीष कपूर ने उसे सभी सुविधाएं मुहैया कराई थीं। उसके पास जेल के अंदर मोबाइल फोन के अलावा इंटरनेट कनेक्शन भी था। वह रोजाना अपने बच्चों के साथ बात करती थीं। मेडिकल विजिट के नाम पर वह जेल से बाहर जाती और आशीष कपूर के साथ लंच और शॉपिंग किया करती थी।

पंजाब गवर्नर ने भी CM को लिखा लेटर

पंजाब के गवर्नर बीएल पुरोहित भी मामले की गंभीरता के मद्देनजर CM पंजाब भगवंत मान को केस को वॉच करने के बारे लेटर लिख चुके हैं। साथ ही उन्होंने पीड़िता को पंजाब राजभवन बुलाकर मुलाकात भी की है। लंबे समय से पंजाब गवर्नर और CM मान के बीच तल्खी देखी गई है। लेकिन CM मान द्वारा उनके बीच सबकुछ ठीक होने की बात भी कही जाती रही है।

Leave a Comment