लखीमपुर के बाद अब हरियाणा में कांड, सांसद के क़ाफिले की गाड़ी ने किसानों को मारी टक्कर, मचा बवाल

अंबाला, 7 अक्टूबर (The News Air)
लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) का विवाद अभी शांत नहीं हुआ था कि अब हरियाणा के अंबाला से इसी तरह का बवाल शुरू हो गया है। आरोप है कि बीजेपी नेताओं का विरोध करने पहुंचे किसान पर गाड़ी चढ़ाई गई, जिसमें वह ज़ख़्मी हो गया। किसानों का आरोप है कि कुरुक्षेत्र से BJP सांसद नायब सैनी के क़ाफिले ने अंबाला के नारायणगढ़ में विरोध कर रहे किसान पर गाड़ी चढ़ा दी।

क्या है पूरा मामला-दरअसल एक कार्यक्रम में शामिल होने प्रदेश के खेल मंत्री संदीप सिंह और कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सैनी नारायणगढ़ पहुंचने वाले थे। जब किसानों को इस बात का पता चला तो वे उस कार्यक्रम का विरोध करने पहुंच गए। किसानों ने जमकर नारेबाज़ी की, विरोध-प्रदर्शन किया। जानकारी के मुताबिक़, सुबह 11 बजकर 15 मिनट पर भवन प्रीत सिंह नाम के किसान ने नारायणगढ़ के डीसीपी को शिकायत दी कि उसपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश हुई। बताया गया कि वह गाड़ी सांसद नायब सैनी के क़ाफिले की थी. फ़िलहाल कोई पुलिस केस रजिस्टर नहीं किया गया है। क़ाफिले की आखिरी गाड़ी द्वारा भवन प्रीत को टक्कर मारने का आरोप है।

जानबूझकर चढ़ाई गाड़ी – किसान-भारतीय किसान यूनियन चढूनी गुट ने नारायणगढ़ थाने में इसकी शिकायत की है। उनका आरोप है कि किसान वहाँ पर काले झंड़े दिखाकर विरोध जता रहे थे। उसी दौरान सांसद के क़ाफिले की एक गाड़ी ने किसान भवनप्रीत को टक्क र मार दी। टक्कर जानबूझकर मारा गया है। किसान की हत्या करने का इरादा था।

लखीमपुर खीरी में क्या हुआ था-इससे पहले रविवार को उत्तर-प्रदेश के लखीमपुर खीरी में प्रदर्शन कर रहे किसानों को गाड़ी से कुचलने का मामला सामने आया था। इस मामले में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा का नाम आया है। आरोप है कि उन्होंने ही किसानों पर गाड़ी चढ़ाई। आशीष का नाम FIR में भी दर्ज़ है। वहाँ चार किसानों समेत 8 लोग मारे गए थे, जिसमें दो बीजेपी कार्यकर्ता, एक ड्राइवर और एक पत्रकार शामिल थे।

Leave a Comment