1990 के बाद अब ‘कश्मीर’ हाथ से जाता देख बौखलाए चुके हैं आतंकवादी, इस वजह से Target पर है कश्मीरी पंडित


श्रीनगर, 8 अक्टूबर (The News Air)

श्रीनगर के ईदगाह संगम इलाक़े के दो टीचरों पर हुए आतंकी हमले का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बता दें कि गुरुवार सुबह क़रीब 11.30 बजे स्कूल में घुसकर आतंकवादियों ने प्रिंसिपल सुपिंदर कौर एक अन्य टीचर दीपक चांद के सिर में गोली मार दी थी। इस हमले की ज़िम्मेदारी आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट(TRF) ने ली है। आतंकवादियों ने पहले सभी टीचरों का आईडी कार्ड देखा। इसके बाद मुस्लिम टीचरों को अलग करके इन दोनों को स्टाफ़ रूम से बाहर ले गए और फिर गोली मार दी।

सुपिंदर कौर ग़रीब बच्चों का खर्चा उठाती थीं-आतंकी हमले का शिकार बनीं सुपिंदर कौर अपनी आधी सैलरी हर महीने ग़रीब बच्चों की पढ़ाई-लिखाई पर खर्च करती थीं। उन्होंने ऐसे बच्चों की परवरिश का ज़िम्मा अपने परिचित एक मुस्लिम परिवार को सौंप रखा था। इसके लिए वे हर महीने उसे 15 हज़ार रुपए देती थीं।

इसलिए बौखलाए हुए हैं आतंकवाद-1990 के बाद यह पहला मौक़ा है, जब कश्मीरी पंडितों की ज़मीनों पर हुए कब्ज़े छुड़ाए जा रहे हैं। घाटी में कश्मीरी पंडितों की वापसी होते देखकर आतंकवादी बौखलाए हुए हैं। प्रशासन ने सितंबर में एक पोर्टल शुरू किया है, इसमें ऐसी विवादास्पद प्रॉपर्टी को लेकर शिकायत दर्ज़ कराई जा सकती है। श्रीनगर के डीसी मोहम्मद एजाज असद के मुताबिक़ ज़िले में ऐसी 660 शिकायतें मिली हैं। इनमें से 390 हल की जा चुकी हैं। शोपियां में 400 शिकायतें आईं।

राहुल के tweet पर भड़के लोग-श्रीनगर में दो टीचरों की हत्या के बाद राहुल गांधी ने एक tweet किया। इसमें लिखा-कश्मीर में हिंसा की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। आतंकवाद न तो नोटबंदी से रुका न धारा 370 हटाने से। केंद्र सरकार सुरक्षा देने में पूरी तरह असफल रही है। हमारे कश्मीरी भाई-बहनों पर हो रहे इन हमलों की हम कड़ी निंदा करते हैं व मृतकों के परिवारों को शोक संवेदनाएं भेजते हैं। राहुल गांधी के इस tweet पर लोगों की कड़ी प्रतिक्रियाएं आईं…

#1990 से 2021 के बीच 31 वर्षों में केंद्र में कांग्रेस की 15 साल तक सरकार रही। 1991 से 1996 तक पीवी नरसिम्हा राव की सरकार थी और 2004 से 2014 तक मनमोहन सिंह की सरकार थी। लेकिन कांग्रेस ने कभी कश्मीरी पंडितों और वहाँ के लोगों के लिए कुछ नहीं किया और आज घड़ियाली आंसू बहा रहे राहुल।

#आप लोग कश्मीरी हिंदुओं से क्यों हमदर्दी जता रहे हैं? और न ही गले मिलने का आयोजन करें। आपको वहाँ से कोई राजनीतिक लाभ नहीं मिलने वाला है। क्योंकि आज जो कश्मीरी हिंदुओं की हत्याएं हो रही है, उसकी पूरी ज़िम्मेदारी कांग्रेस की है।

#पंडित नेहरू की सबसे बड़ी विफलताओं में कश्मीर सबसे ऊपर है, आज उनकी नाकामी के कारण ही देश को कश्मीर में आतंकवाद की समस्या से जूझना पड़ रहा है। चिंता मत कीजिए, कांग्रेस ने इस देश को जितने भी कैन्सर दिए उन सबका इलाज भाजपा ही करेगी, इसका इलाज भी पूर्णतः हो जाएगा ये भरोसा रखिए।

प्रियंका गांधी ने कहा-आतंकियों द्वारा हमारे कश्मीरी बहनों-भाइयों पर बढ़ते हमले दर्दनाक और निंदनीय हैं। इस मुश्किल घड़ी में हम सब अपने कश्मीरी बहनों-भाइयों के साथ हैं। केंद्र सरकार को तुरंत क़दम उठाकर सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए।

हाल में कांग्रेस में शामिल हुए कन्हैया कुमार ने tweet किया-आतंकियों द्वारा कश्मीर में लगातार आम नागरिकों की निर्मम हत्याएं की जा रही हैं। घाटी में सुरक्षा और शांति को लेकर सरकार के तमाम दावे अभी तक हवा-हवाई साबित हुए हैं। बिना किसी लाग लपेट के आम नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए अन्यथा अक्षम गृह-मंत्री को इस्तीफ़ा देना चाहिए।


Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro