Afghanistan Crisis: तालिबान के चंगुल से छूटे; तो Corona ने पकड़ लिया; आहट बड़े संकट की

काबुल , 25 अगस्त (The News Air)

Afghanistan पर तालिबान के कब्ज़े के बाद वहाँ से बड़ी संख्या में पलायन जारी है। भारत लगातार अपने लोगों को वहाँ से निकाल रहा है। मंगलवार को भारत आए 78 लोगों में से 16 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। लिहाज़ा, सबको क्वारैंटाइन किया गया है। वैसे,ये 16 लोग एसिम्पटोमैटिक हैं। यानी इनमें वायरस के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। इनमें वो तीन सिख भी शामिल हैं, जो क़ाबुल से श्री गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतियां सिर पर उठाकर लाए थे। उनका फ़ोटो मीडिया पर वायरल हुआ था। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी दिल्ली एयरपोर्ट पर इन प्रतियों को लेने ख़ुद पहुंचे थे। बता दें कि अब तक अफ़ग़ानिस्तान से 626 लोग भारत आ चुके हैं। इनमें 77 अफ़गानी सिख और 228 भारतीय हैं। इनमें अफ़ग़ानिस्तान की एम्बेसी में काम करने वाले लोग शामिल नहीं हैं।

आगे और बड़ा ख़तरा मंडरा रहा- संयुक्त राष्ट्र(United Nation) से जुड़े यूनिसेफ ने अफ़ग़ानिस्तान पर एक बड़े ख़तरे की अंदेशा जताया है। यूनिसेफ ने कहा कि आने वाले समय में अफ़ग़ानिस्तान में भीषण सूखे, सर्दी के आगमन के साथ कोरोना वायरस की महामारी से स्थिति और बिगड़ेगी। न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, WHO ने सोमवार को कहा था कि क़ाबुल हवाई अड्डा बंद होने से सर्जिकल उपकरण और कुपोषण किट समेत 500 टन से ज़्यादा की चिकित्सकीय आपूर्ति फंस गई है। वहीं, यूनिसेफ ने कहा कि कहा यहां के एक करोड़ बच्चे मानवीय सहायता पर निर्भर हैं। यहां इस साल क़रीब 10 लाख बच्चे कुपोषित निकल सकते हैं। बता दें कि अमेरिका सहित 60 देशों ने अफ़ग़ानिस्तान की आर्थिक मदद पर रोक लगा दी है। इससे स्थिति और बिगड़ेगी।

अफ़ग़ानिस्तान से जुड़ी ये जानकारी भी जानें- G-7 समूह ने तालिबान को दो टूक कहा है कि जब तक अफ़ग़ानिस्तान में फंसे लोग बाहर नहीं निकाल लिए जाते, तब तक अमेरिकी सेना वहाँ मौजूद रहेगी यानि काम जारी रहेगा। बता दें की G-7 दुनिया की 7 बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों का समूह है। इन्होंने तालिबान से कहा है कि वो सुरक्षित रास्ता दे। इस समूह में अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली और जापान के देश शामिल हैं। तालिबान कई बार चेतावनी दे चुका है कि अमेरिका 31 अगस्त तक अफ़ग़ानिस्तान से अपनी सेना बुला ले। मंगलवार को इस मुद्दे पर G7 देशों ने वर्चुअल बैठक की थी।

Leave a Comment