फरार के.टी.एफ. का गुर्गा किया गिरफ्तार; डेरा प्रेमी हत्या में इस्तेमाल किए हथियार, वाहन बरामद


कमल फिल्लौर में पुजारी पर गोलाबारी, सुक्खा लम्मा कत्ल केस और सुपरशाईन कत्ल केस में भी था शामिल

चंडीगढ़, 1 जून

खालिस्तान टाइगर फोर्स (के.टी.एफ.) के दो गुर्गों की गिरफ्तारी के बाद, पंजाब पुलिस ने उनके तीसरे साथी कमलजीत शर्मा उर्फ कमल को भी गिरफ्तार कर लिया है जोकि डेरा प्रेमी के कत्ल, के.टी.एफ. प्रमुख हरदीप निज्जर के गाँव में पुजारी पर गोलीबारी, सुक्खा लम्मा कत्ल केस और मोगा के सुपरशाईन कत्ल केस में शामिल मुख्य शूटरों में से एक है।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) पंजाब दिनकर गुप्ता ने आज जानकारी देते हुए बताया कि कमल, जोकि मोगा के गाँव डाला का निवासी है, को मोगा पुलिस ने मोगा जिले के नत्थूवाला जदीद के पास से गिरफ्तार किया है और उसके पास से चार .315 बोर पिस्तौलों समेत 10 जिंदा कारतूस बरामद किये गए हैं।

बताने योग्य है कि पुलिस की तरफ से 22 मई को कमल के दो साथी लवप्रीत सिंह उर्फ रवि और राम सिंह उर्फ सोनू को मोगा से गिरफ्तार किया गया था।

ये तीनों मुलजिम के.टी.एफ. के कनाडा आधारित प्रमुख हरदीप सिंह निज्जर, जिसको सरकार द्वारा गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यू.ए.पी.ए.) के अंतर्गत आतंकवादी घोषित किया गया था, के दिशा-निर्देशों पर वारदातों को अंजाम देते थे।

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि इसके अलावा उनके तीन और के.टी.एफ. के सह-साजिशकर्ता / मास्टर माईडों की पहचान अर्शदीप, रमनदीप और चरनजीत उर्फ रिंकू बेहला के तौर पर की गई है, जो सरे (बीसी) कैनेडा में छिपे हुए हैं और मुकद्मे और आपराधिक कार्यवाही के लिए पंजाब पुलिस उनको भारत लाने की पूरी कोशिश कर रही है।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने कमल से एक महेन्द्रा बोलेरो भी बरामद की है, जिसका प्रयोग वह जाली रजिस्ट्रेशन नंबर सीएच 01 एएफ 601 लगाकर कर रहा था। उन्होंने बताया कि इसके अलावा, कमल के पास से तीन मोटरसाईकल जिनमें हीरो सप्लेंडर (पीबी 05 एजे 5965), बजाज पलसर (पीबी 10 एफवाई 4357) और बजाज सिटी 100 (पीबी 29 एबी 2642) भी बरामद की गई हैं, जिनको भगता भाईका में डेरा प्रेमी केे कत्ल, फिल्लौर में पुजारी पर गोलीबारी और सुपरशाईन कत्ल में इस्तेमाल किया गया था।

एसएसपी मोगा हरमनबीर सिंह गिल ने कहा कि प्राथमिक जांच से पता चला है कि कमल को इन वरदातों को अंजाम देने के लिए हवाला और वेस्टर्न यूनियन के द्वारा अपने कैनेडा आधारित साथियों द्वारा बड़ी संख्या में पैसा भेजा जा रहा था। कमल ने खुलासा किया कि निज्जर और उसके कैनेडा के तीन और सहयोगियों ने उनको भरोसा दिया था कि यदि वह अपराध करते समय पकड़े भी जाते हैं तो उनका केस नामी वकीलों को सौंपा जायेगा।

एस.एस.पी. गिल ने बताया कि मुलजिम के साथी लवप्रीत सिंह उर्फ रवि द्वारा खुलासा करने पर मोगा पुलिस की तरफ से मोगा में सुपरशाईन कपड़े के मालिक की हत्या में इस्तेमाल की गई 0.32 बोर की पिस्तौल भी बरामद की गई है।

जिक्रयोग्य है कि इस गुट से अब तक कुल पाँच .32 बोर पिस्तौलें, सात .315 बोर पिस्तौलें और एक .12 बोर देसी पिस्तौल बरामद की गई हैं। 


Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro