पंजाब के CM चन्नी पर दर्ज़ हो केस, अवैध रेत खनन मामले में AAP ने मुख्यमंत्री को..

The News Air- आम आदमी पार्टी ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर अवैध खनन मामले को लेकर केस दर्ज़ करने की मांग की है। इस संबंध में पंजाब के सह प्रभारी राघव चड्‌ढा ने चंडीगढ़ में गर्वनर बनवारी लाल पुरोहित को मांग पत्र सौंपा है। उन्होंने कहा कि इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाए।

पंजाब के गर्वनर से मुलाक़ात के बाद राघव चड्‌ढा ने कहा कि पंजाब में चल रहे अवैध रेत खनन में चन्नी और उनके रिश्तेदारों का नाम आ रहा है। इसलिए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी पर लगे अवैध माइनिंग करने व रेत चोरी के आरोपों पर एफआईआर दर्ज़ होनी चाहिए और मामले की जांच निष्पक्ष एजेंसी से करवाई जाए।

राघव चड्‌ढा ने कहा कि पंजाब में क़रीब डेढ़ महीना पहले आप ने चन्नी के जिंदापुर गांव में रेत चोरी का पर्दाफाश किया था। उसके बाद पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने भी इस बात को क़बूला कि चन्नी रेत चोरी करते हैं। उन्होंने सोनिया गांधी को अवैध माइनिंग की शिकायत भी दी है। दोनों फैक्ट गर्वनर को बताए गए हैं।

सीएम के भतीजे भूपेंद्र हनी के पास से 10 करोड़ रुपए, गाड़ी, काग़ज़ात, 12 लाख की घड़ी मिली। इस मामले में सीएम भी शामिल हैं। राज्यपाल ख़ुद इस पूरी जांच की मॉनिटरिंग करें। आप नेता ने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी के ख़िलाफ़ पंजाब पुलिस एफआईआर दर्ज़ करें। जिन रिश्तेदारों के नाम आ रहे, उनकी जांच की जाए।

इसके लिए एक मांग पत्र सौंपा है। हमनें गर्वनर को ईडी से क्या मिला, कब रेड की, जो भी मिला, वह सारी चीज़ें लिखित में दी है। राज्यपाल ने भी आश्वासन दिया कि वे शिकायत पर संज्ञान लेकर एक्शन लेंगे।

कैप्टन पार्टी हाईकमान को सूचना देता है

कैप्टन अमरिंदर सिंह अपनी पार्टी अध्यक्ष को सूचना देते हैं, परंतु न पार्टी हाईकमान एक्शन लेती हैं, न ही सीएम लेते। क्या इसका चोरी किया पैसा हाईकमान के पास जाता है। फिर भी चन्नी मुख्यमंत्री बनता है। अगर 111 दिन सीएम रहे चन्नी के कार्यकाल में भतीजे से 10 करोड़ नक़द, 54 बैंक एंट्री मिल गई तो बाक़ी रिश्तेदारों के पास क्या क्या आया है, इसकी जांच हो। राघव चड्‌ढा ने कहा कि सोचिए यदि चन्नी साहब 5 साल सीएम रह जाते तो कितना पैसा कमा जाते। सूबे का मुख्यमंत्री क़ानून से ऊपर नहीं है। भारत का संविधान सबसे ऊपर है।

रेड राजनैतिक कारणों से तो 10 करोड़ कहां से आए

मान लेते हैं कि सीएम पर रेड राजनीतिक कारणों से हुई है। अगर रेड राजनीतिक कारणों से है तो सीएम के भतीजे के पास 10 करोड़ रुपए कहां से आ गए। 21 लाख का सोना कहां से आ गया। 54 करोड़ की एंट्री कहां से आ गई। राजनीतिक जायदाद एक भतीजे ने कमाई है। बाक़ी रिश्तेदारों ने क्या कमाया होगा, इसका अनुमान लगा सकते हैं। इसलिए गवर्नर जांच करवाएं, ताकि मैसेज जाए कि सूबे का सीएम राज्य से ऊपर नहीं हो सकता।

Leave a Comment