पंजाब में कांग्रेस की 70 टिकटें फाइनल, जहां दिग्गज अड़े, वह सीटें रोकी, इन विधायकों-मंत्रियों की टिकटें कटी

The News Air- (चंडीगढ़) पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने 70 टिकटें फाइनल कर दी हैं। लिस्ट कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दी गई है। इसमें ज़्यादातर पार्टी के मौजूदा विधायक और मंत्री हैं। कांग्रेस ने साफ़ कर दिया है कि किसी भी MLA और मंत्री को अपनी विधानसभा सीट नहीं बदलने दी जाएगी। आज किसी भी वक़्त कांग्रेस लिस्ट जारी कर सकती है।

अहम बात यह है कि जिन सीटों पर घमासान मचा था, उनकी घोषणा रोक ली गई है। पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू, CM चरणजीत चन्नी और कैंपेन कमेटी चेयरमैन सुनील जाखड़ के बीच इन सीटों को लेकर असहमति बनी हुई है। इन पर अंतिम फ़ैसले के लिए अजय माकन की अगुवाई वाली स्क्रीनिंग कमेटी की फिर मीटिंग होगी।

MLA कमल, भट्‌टी की टिकट कटी, सिक्की की भी फंसी

सूत्रों के मुताबिक़, कांग्रेस ने मोगा से MLA हरजोत कमल की टिकट काट दी है। उनकी जगह बॉलीवुड स्टार सोनू सूद की बहन मालविका सूद को टिकट दी गई है। मलोट से विधायक और पंजाब विधानसभा के डिप्टी स्पीकर अजैब सिंह भट्‌टी की टिकट भी काट दी गई है। उनकी जगह आम आदमी पार्टी से कांग्रेस में आई MLA रूपिंदर कौर रूबी को टिकट दी गई है। मानसा से नाजर सिंह मानशाहिया की टिकट कटनी तय है।

बल्लुआना से विधायक नाथूराम की टिकट भी काटी जा रही है। खडूर साहिब से रमनजीत सिक्की की टिकट भी फंस गई है। यहां से सांसद जसबीर डिंपा ने दावेदारी ठोक दी है। आदमपुर और जालंधर वेस्ट में फंसी MLA सुशील रिंकू की सीट भी क्लियर हो गई है। वह जालंधर वेस्ट से ही लड़ेंगे। कादियां से प्रताप बाजवा की टिकट पर भी मुहर लग चुकी है। सीएम चन्नी के चमकौर साहिब और आदमपुर सीट से लड़ने का विकल्प खुला है। हालांकि सीएम यहां से अपने रिश्तेदार मोहिंदर केपी को टिकट दिलवाना चाहते हैं।

जहां पर दिग्गज अड़े, वह सीटें रोकी गईं

कांग्रेस ने उन सीटों को रोक दिया है, जहां पर चन्नी, सिद्धू और जाखड़ में भिड़ंत हुई। इनमें गढ़ शंकर की सीट प्रमुख है। जहां सीएम चन्नी निमिशा मेहता के हक़ में हैं। वहीं सुनील जाखड़ ने यूथ कांग्रेस नेता अमनप्रीत लाली का दावा ठोका है। सिद्धू भी चन्नी के हक़ में हैं, लेकिन निमिशा को सांसद मनीष तिवारी भी सपोर्ट कर रहे है, क्योंकि यह सीट उनके संसदीय क्षेत्र में है। मानसा से सिद्धू मूसेवाला के लिए दबाव बनाया गया है। यहां से यूथ कांग्रेस नेता चुसपिंदर भी दावेदारी ठोक चुके हैं।

विरोधी दिग्गजों के आगे चेहरों पर फ़ैसला नहीं

कांग्रेस ने भी विरोधी पार्टियों के दिग्गजों के ख़िलाफ़ चेहरों पर फ़ैसला नहीं किया है। इनमें लंबी से प्रकाश सिंह बादल, पटियाला से कैप्टन अमरिंदर सिंह, जलालाबाद से सुखबीर बादल के ख़िलाफ़ टिकट पर फ़ैसला नहीं हुआ है। कांग्रेस की नज़र सांसद भगवंत मान पर भी है, क्योंकि वह धूरी से चुनाव लड़ सकते हैं। मान का पंजाब में आम आदमी पार्टी का सीएम चेहरा बनना तय है। हालांकि लहरागागा से पूर्व सीएम राजिंदर कौर भट्‌ठल को टिकट दी जा रही है।

Leave a Comment