अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में लगभग 200 करोड़ रुपए कीमत की 40 किलो हेरोइन की गई ज़ब्त

चंडीगढ़/अमृतसर, 21 अगस्त (The News Air)

पंजाब पुलिस को मिली विशेष जानकारी के आधार पर एक खुफिय़ा कार्रवाई करते हुए अमृतसर ग्रामीण पुलिस ने आज सुबह पाकिस्तान आधारित तस्करों द्वारा अमृतसर के पंजग्राईआं बॉर्डर चौकी (बी.ओ.पी) क्षेत्र में 40.81 किलोग्राम हेरोइन के 39 पैकेट बरामद करके नशीले पदार्थों की एक बड़ी तस्करी को असफल कर दिया। अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में इसकी कीमत लगभग 200 करोड़ रुपए बतायी जाती है। यह क्षेत्र बीएसएफ के अधीन आनेवाले सीमावर्ती क्षेत्र का हिस्सा है, इसलिए उपरोक्त कार्रवाई को अंजाम देने में सीमा सुरक्षा बल (बी.एस.एफ) द्वारा पूरा सहयोग दिया गया। 

पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि सूचना मिलने के बाद एसएसपी अमृतसर (ग्रामीण) गुलनीत सिंह खुराना द्वारा तुरंत बीएसएफ से संपर्क किया कि निर्मल सिंह उर्फ सोनू मेयर, जोकि घरिंडा क्षेत्र का एक मशहूर तस्कर है, भारत-पाक सीमा के द्वारा हेरोइन की तस्करी की कोशिश कर रहा था, उन्होंने बताया कि इस दौरान डीएसपी इन्वेस्टिगेशन गुरिन्दरपाल सिंह और डीएसपी अजनाला विपिन कुमार की पुलिस टीम भी बीएसएफ के साथ मिलकर नशा तस्करों को पकडऩे और हेरोइन बरामद करने के लिए मौके पर पहुँची।

डीजीपी ने कहा कि पंजाब पुलिस और बीएसएफ की साझा टीमों द्वारा हेरोइन की बड़ी खेप को सफलतापूर्वक ज़ब्त करने के अलावा 180 ग्राम अफ़ीम और दो प्लास्टिक पाईपें (सुपर पंजाब पंप, पाकिस्तान में निर्मित) बरामद की गई हैं। पुलिस ने तस्करों से सम्बन्धित एक मोटरसाईकल और एक स्कूटी भी ज़ब्त की है, जोकि तस्करी वाली जगह से मिले हैं।

एसएसपी गुलनीत सिंह खुराना ने कहा कि पुलिस ने सोनू, जोकि तरन तारन पुलिस द्वारा 2020 में 1 किलो हेरोइन बरामद होने के मामले में भी वांछित है, को गिरफ्तार करने के लिए बड़े स्तर पर छापेमारी शुरू कर दी है और जल्द ही सभी दोषियों को गिरफ्तार किए जाने की संभावना है।

दोषियों द्वारा अपनाए गए तस्करी के तरीके संबंधी जानकारी साझा करते हुए एसएसपी खुराना ने कहा कि तस्करों द्वारा हेरोइन को साफ़-सुथरे बने हुए पैकेटों के रूप में सरहद की बाड़ के पार (भारत में) लाने के लिए पाकिस्तान में बनी प्लास्टिक की पाईपों का प्रयोग किया जाता था। उन्होंने बताया कि इस सम्बन्ध में एनडीपीएस एक्ट की धारा 21, 61, 85, विदेशी एक्ट की धारा 14 और भारत पासपोर्ट एक्ट की धारा 3, 34, 20 के अधीन 21 अगस्त, 2021 को एफआईआर नंबर 103 पुलिस थाना रमदास, अमृतसर में दर्ज की गई है।

Leave a Comment