कांग्रेस में मचे घमासान के दरमियान सहमति: सिद्धू, बाजवा, मालविका, वडाली समेत पहली लिस्ट में 29 कैंडिडेट

The News Air- पंजाब कांग्रेस में घमासान के बीच कांग्रेस कैंडिडेट के नामों पर सहमति बनने लगी है। पहली लिस्ट में क़रीब 29 नामों पर सहमति बन गई है। इनमें अमृतसर ईस्ट से कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू, कादियां से प्रताप सिंह बाजवा, मोगा से मालविका सूद, अटारी से सूफ़ी सिंगर लखविंदर वडाली का नाम शामिल है। इसके अलावा कुलजीत नागरा की भी टिकट फाइनल हो चुकी है।

यह भी पढ़ें- पंजाब कांग्रेस में टिकट को लेकर मचा घमासान, चन्नी-सिद्धू और जाखड़ आपस में भिड़े

माझा ब्रिगेड पर कांग्रेस ने फिर भरोसा जताया है। तृप्त राजिंदर बाजवा, सुखबिंदर सिंह सुख सरकारिया, सुखजिंदर रंधावा और रमनजीत सिक्की की टिकट भी फाइनल हो चुकी है। सबसे दिलचस्प कपूरथला से मंत्री राणा गुरजीत का नाम है, जो लगातार सिद्धू के ख़िलाफ़ बोलते रहे हैं और कैप्टन अमरिंदर सिंह के क़रीबी माने जाते हैं। उनकी टिकट पर भी सहमति बनती नज़र आ रही है। पहली लिस्ट में 60 से 70 उम्मीदवारों का नाम घोषित करने की योजना बनाई जा रही है।

सिद्धू मूसेवाला की टिकट का विरोध

मानसा सीट के लिए भी दिलचस्प स्थिति बनती जा रही है। यहां से विवादित सिंगर सिद्धू मूसेवाला टिकट के दावेदार हैं। मूसेवाला के लिए नवजोत सिद्धू, सीएम चन्नी और पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश चौधरी लॉबिंग कर रहे हैं। हालांकि मानसा से यूथ कांग्रेस के चुसपिंदर सिंह भी टिकट चाहते हैं। वहीं, अब मौजूदा विधायक नाजर सिंह मानशाहिया ने भी विरोध जता दिया है। उन्होंने कहा कि अगर मूसेवाला को टिकट दी गई तो फिर उनके भी विकल्प खुले हुए हैं। इस बाबत उन्होंने कांग्रेस हाईकमान को चिट्‌ठी भी लिखी है। मानशाहिया 2017 में आप की टिकट पर चुनाव जीते थे लेकिन बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए।

letter 1

सोनिया के सामने भिड़े सिद्धू- चन्नी और जाखड़

शुक्रवार सुबह कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के सामने ही सीएम चरणजीत चन्नी, पंजाब प्रधान नवजोत सिद्धू और कैंपेन कमेटी चेयरमैन सुनील जाखड़ में ही उलझ गए। बात टिकट देने से लेकर अब सीएम चेहरा घोषित करने की मांग तक पहुंच गई है। कांग्रेस हाईकमान चन्नी, सिद्धू और जाखड़ के चेहरे पर चुनाव लड़ना चाहता है लेकिन पंजाब में कांग्रेस में मचे घमासान को देखते हुए वह किसी एक की घोषणा की मांग उठा रहे हैं। सिद्धू और चन्नी इस पक्ष में ज़्यादा हैं। इससे पहले गुरुवार देर रात भी केंद्रीय चुनाव कमेटी (CEC) की मीटिंग में यह तीनों आपस में उलझ गए थे।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस को फिर से लगा झटका, 3 बार MLA रहे इस दिग्गज नेता ने छोड़ी पार्टी

तीनों ही नेता अपने समर्थकों को टिकट दिलाना चाहते हैं ताकि आगे चल कर सीएम की कुर्सी पर दावा मज़बूत हो सके। गुरुवार रात को कांग्रेस में 78 सीटों पर चर्चा हुई। जिसमें घमासान देख सोनिया गांधी ने कहा कि पहले नेता आपस में सहमति बनाएं। उसके बाद मीटिंग में आएं। इसके बाद आज फिर दिग्गज नेताओं के साथ मीटिंग की जा रही है। जिसमें फिर से कल रात वाले ही हालात बने हुए हैं।

इसी बीच काफ़ी हद तक कांग्रेस टिकटों पर सहमति बन चुकी है। कांग्रेस की पहली लिस्ट आज जारी हो सकती है, जिसमें 73 से 75 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा हो सकती है। जिसमें ज़्यादातर विधायक ही होंगे। 5 सीटों को लेकर मंथन जारी है। इसके अलावा अगली लिस्ट में महिलाओं की गिनती ज़्यादा हो सकती है।

आदमपुर से चन्नी केपी के पक्ष में, सिद्धू बोले- रिंकू को भेजें

पंजाब में आदमपुर सीट से सीएम चन्नी अपने रिश्तेदार मोहिंदर केपी को चुनाव लड़ाने के पक्ष में हैं। हालांकि नवजोत सिद्धू का कहना है कि जालंधर वेस्ट से विधायक सुशील रिंकू को आदमपुर से लड़ाया जाए। मोहिंदर केपी जालंधर वेस्ट से लड़ें। पार्टी स्तर पर इस पर सहमति बनी, लेकिन सीएम चन्नी ने दूसरा दांव खेल दिया। पहले यह चर्चा भी रही कि अनुसूचित जाति वोट बैंक को देखते हुए सीएम चन्नी चमकौर साहिब के साथ आदमपुर से भी चुनाव लड़ें लेकिन ‘वन फैमिली-वन टिकट’ के फार्मूले के बाद यह संभव नज़र नहीं आ रहा था। इसीलिए सीएम ने अपने क़रीबी रिश्तेदार केपी के लिए यहां लॉबिंग की है।

यूथ कांग्रेस की दावेदारी से भी कांग्रेस में घमासान

इस बार यूथ कांग्रेस भी अपने नेताओं को टिकट दिलाना चाहती है। सोनिया गांधी की अगुवाई में मीटिंग के दौरान गढ़शंकर सीट के लिए सीएम चन्नी और सिद्धू ने निमिशा मेहता का समर्थन कर दिया। हालांकि कैंपेन कमेटी प्रधान सुनील जाखड़ ने यूथ कांग्रेस के पूर्व प्रधान अमरप्रीत सिंह लाली का नाम आगे कर दिया। यूथ कांग्रेस 12 टिकट मांग रही है, जिनमें लाली के अलावा बरिंदर ढिल्लों रोपड़, अमित बावा सैनी डेराबस्सी, दमन बाजवा सुनाम और गुरजोत ढींढसा अमरगढ़ से टिकट पर दावा ठोक रहे हैं। मानसा से यूथ कांग्रेस चुसपिंदर के लिए टिकट चाहती है, लेकिन यहां से नवजोत सिद्धू और सीएम चन्नी विवादित गायक सिद्धू मूसेवाला को टिकट देने के हक़ में डटे हैं।

आज पहले स्क्रीनिंग कमेटी और फिर CEC की मीटिंग

सोनिया गांधी के सामने ही नेताओं को भिड़ते देख एक बार फिर से सहमति के लिए स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग होगी। इसकी अगुआई कमेटी चेयरमैन अजय माकन करेंगे। इसमें सीएम चन्नी, सिद्धू और जाखड़ समेत सभी मेंबर जुड़ेंगे। यहां सहमति बनने के बाद फिर CEC की मीटिंग होगी, जिसके बाद पहली सूची जारी कर दी जाएगी।

कांग्रेस कैंडिडेट की एक लिस्ट वायरल

इसी बीच कांग्रेस कैंडिडेट की एक लिस्ट वायरल हुई है। हालांकि इसके बारे में अभी तक कांग्रेस की तरफ़ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। इतना जरुर है कि इस लिस्ट में तारीख़ 14 जनवरी 2021 लिखी है लेकिन कैंडिडेट के नाम 2020 चुनाव के लिए लिखे गए हैं। ऐसे में इसे फेक समझा जा रहा है।

00 3

Leave a Comment