ड्राइविंग के समय मोबाइल फोन यूज करने से गई 1,040 लोगों की जान, रेड लाइट जंप से हुईं 555 मौतें

मोबाइल फोन की रोड एक्सिडेंट में बड़ी भागेदारी है, जिसका पता इससे चलता है कि साल 2021 में कुल 1,997 सड़क हादसे वाहन चालकों द्वारा वाहन चलाते समय मोबाइल फोन के इस्तेमाल के कारण हुए। इससे भी दुखद यह बात है कि इन दुर्घटनाओं में 1,040 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। सड़क दुर्घटना की वजह बनने वाला एक अन्य बड़ा कारण लाल बत्ती को जंप करना भी है।समाचार एजेंसी PTI (via Gadgets Now) के अनुसार, साल 2021 में कुल 1,997 सड़क हादसे ड्राइवर्स द्वारा गाड़ी चलाते समय मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने से हुए और सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MORTH) की रिपोर्ट के अनुसार, इन दुर्घटनाओं में 1,040 लोगों की जान चली गई। सरकारी रिपोर्ट बताती है कि लाल बत्ती के कूदने के कारण 555 सड़क दुर्घटनाएं हुईं, जिसमें 2021 में 222 लोगों की जान गई। वहीं, 2021 में कुल 4,12,432 सड़क दुर्घटनाएं हुईं, जिनमें 1,53,972 लोगों की जान गई, जबकि 3,84,448 लोग घायल हुए।

‘भारत में सड़क दुर्घटनाएं-2021’ टाइटल वाली रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि वर्ष 2021 में गड्ढों के कारण दुर्घटनाओं और मौतों की कुल संख्या क्रमशः 3,625 और 1,481 थी। आगे यह भी बताया गया है कि सड़क दुर्घटनाएं कई कारणों से होती हैं, जिसके लिए सभी एजेंसियों के ठोस प्रयासों के जरिए समस्याओं को कम करने के लिए उपाए खोजने की आवश्यकता होती है।

बता दें कि वाहन चलाते समय मोबाइल फोन का उपयोग करने के लिए मोटर व्हीकल एक्ट के अंदर 5000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। पहले यह जुर्माना 1000 रुपये था, जिसे साल 2020 में पांच गुना बढ़ा दिया गया था।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार, ड्राइविंग करते समय मोबाइल फोन का उपयोग केवल रूट नेविगेशन के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा, किसी भी अन्य कार्य के लिए मोबाइल फोन का इस्तेमाल अपराध के अंदर आता है।

Leave a Comment